थक के सो गए तारे भी

थक के सो गए तारे भी
मेरी नींद को इंतज़ार ही कुछ ऐसा था
 राजेश’अरमान’

Related Articles

Responses

New Report

Close