मुक्तक

मुक्तक

तेरा जिक्र दर्द का बहाना बन जाता है!
मेरे ख्यालों का अफसाना बन जाता है!
तेरी आरजू में तड़पती है जिन्द़गी,
यादों का दिल में ठिकाना बन जाता है!

Composed By #महादेव


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Lives in Varanasi, India

Related Posts

मुक्तक

मुक्तक

मुक्तक

मुक्तक

3 Comments

  1. Kavi Manohar - July 20, 2016, 11:11 pm

    Laajbaab sir

  2. Ritu Soni - July 22, 2016, 11:46 am

    Very nice

  3. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 8, 2019, 5:34 pm

    वाह बहुत सुंदर

Leave a Reply