Antima Goyal, Author at Saavan's Posts

ओ रे कृष्णा

ओ रे कृष्णा काहे सताये मोहे पनघट पर पनिया भरत में काहे छेड़े मोहे मटकी फ़ोड़े राहे रोके निस दिन बरबस ही आके टोके जरा भी लाज शरम न आये तोहे ओ रे कृष्णा काहे सताये मोहे »

व्याकुल जी जान से

पयोद धर बाण जल का चलाये तड़ित की कमान से धरती आहत होने को आकुल प्रेम में मरने को व्याकुल जी जान से| »