Gurmeet Malhotra's Posts

ऐ बंदे !

उसने हमें जीवन दिया ताकि हम उसकी बनाई दुनिया को और खुबसूरत बनाए । हमने उसी जीवन को किसी और लक्ष्य में लगा दिया, भगवान हंसे कहा ,”तू कब समझेंगा ऐ बंदे !” ।। उसने हमें कई रिश्ते दिए माता पिता भाई बहन जो हमें दिशाहिन ना होने दें । हमने उन्हीं रिश्तों में स्वार्थ और लालच मिला दिया, वाहेगुरु बोले, “तू कब समझेंगा ऐ बंदे !” ।। उसने बनाया इन्सान, हर कोई एक समान, कोई फर्क नहीं किया,... »

दिल दियान गल्लां

सुण वे महिया, सुणंदा जा वे, की केंदा है तेनु मेरा ए छल्ला । दिलां विच ही ना रै जावे, थोड़ी तू वी सुण जा मेरे दिल दियां गल्लां ।। मेरे दिल नू तोड़ तू मूडया या ही नहीं, बेरुखिया तेरी मेरा दिल भूल्या ही नहीं । ईक वारी आके देख ता एदा हाल, कल्ले बैके सुणदे हां असी अपने ही दिल दिया गल्ला ।। ऐहो दिल विच कदी तेरा वसेरा सी, एहो दिल मेरा कदी तेरा वी सी। मेरे दिल दी हुक बुलावे तेरा नां हर पल, तक दी है तेरी ह... »