Sulekha yadav's Posts

Oh My Friend

Meri Choti si koshish! You make me laugh You make me happy Because of you I smile You ease all problems for a while When thick clouds cover me With all darkness and thunder You put some sunshine And make life full of wonders You’re really kind A friend like you is Really hard to find And so I send this poem With lots of love! »

जब से वो गये है

आंखे हैं पर देख नहीं सकते जुबां तो है पर कुछ कह नहीं सकते जब से वो गये है हमारी चौकट से न किसी को देखने की चाहत है न गुफ़्तगु की जुस्तजु है »

बिना पत्तों की टहनियां

बिना पत्तों की टहनियां कहां छांव देती हैं जिंदगी से जब ज्यादा मांगो तो हमेशा घाव देती है »

अजीब दुनिया

कितनी अजीब है दुनिया कितने अजीब है लोगों के काम बटोर रहे हैं दोनों हाथों से जाने को कर खाली झोली तमाम »