अब वो ज़हर कहाँ

June 23, 2016 in शेर-ओ-शायरी

साँपों के मुक़द्दर में अब वो ज़हर कहाँ ?

जो इन्सान आजकल बातों में उगल देते हैं !