शेर-ओ-शायरी

तू

तू आया तो बसन्त है….। तू गया तो बस अन्त है।। »

कुफ्र

अतीत के फफोले तेजाबी बारिश दहकते लावे की तपिश या कोई आतिश ताउम्र का सबक बस एक कुफ्र। निमिषा »

सीरत

कोई दिल दरबारे खास बने तो जान निछावर करते हैं हमें सूरत की प्रवाह नहीं सीरत से मोहब्बत करते हैं »

हम तुमसे दफा नहीं होते

प्यारे कभी बेवफा नहीं होते। अपने कभी खपा नहीं होते। ऐ वक्त हमसे खपा मत होना क्योंकि हम तुमसे दफा नहीं होते।। »

गज़ल

गज़ल ——- जहर यह उम्र भर का एक पल में पी लिया हमने। तुम्हारे साथ जन्मो जन्म रिश्ता जी लिया हमने। 1.मुकम्मल ना हुआ तो क्या इश्क को जी लिया हमने कहते हैं आग का दरिया डूब कर देख लिया हमने। 2.चिरागों की जरूरत क्या पड़ेगी हमको ए कातिल, जलाकर खुद का दिल ही आज कर ली रोशनी हमने। 3. तुम्हारे बक्शे जख्मों को हरा रखना …. आदत बना ली है जो गहरे घाव है दिल के सजा कर रख लिए हमने। 4.सितमगर इश्क़ ... »

मोहब्बत

तुम आए भी ओर चले गए मोहब्बत की सजा दे ही गए ना इजहार किया ना इकरार किया बस खामोशी से दिल को तार तार किया गलती तुम्हारी नही हमारी है जो अपनी बेवफा किस्मत पर फिर से ऐतबार किया »

आखिर क्या बदला

🥀आखिर क्या बदला बेटी के लिए 🥀 जब पिता की तरफ से दहेज आता था तो पति कहता था तो कितना लाई तेरे आने पर पति की तरफ से दहेज आता है तो पति कहता है मैंने कितना दिया तुझे लाने पर »

ज्ञान की वैशाखी

💐 शायरी 💐 पंछियों के बगीचे आसमान में होते हैं बुद्धिमानी के चर्चे जहान में होते हैं उठाकर जो चलते हैं ज्ञान की वैशाखी हजारों सितारे उसकी शान में होते हैं »

Bewafa

हम उन्हे और भी ज्यादा चाहने लगे। जब से वो हमे बेवफा नजर आने लगे।। »

वियोग

नब्ज देख के बतला दो मुझे कौन-सा रोग है। दिल में तुझे बसाकर भी आखिर क्यों वियोग है।। »

Page 1 of 183123»