अब जो चेहरे पे

अब जो चेहरे पे

अब जो चेहरे पे नज़र जाती है
साँसें कुछ देर को ठहर जाती है

सब यहाँ मौजू मगर खुद ग़ुम
कुछ खोने की अब खबर जाती है

राजेश’अरमान’


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

हर निभाने के दस्तूर क़र्ज़ है मुझ पे गोया रसीद पे किया कोई दस्तखत हूँ मैं राजेश'अरमान '

1 Comment

  1. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 12, 2019, 11:17 pm

    बहुत बढ़िया

Leave a Reply