ऊंची दीवारें भी पल

ऊंची दीवारें भी पल में मिट जाती है
बस नज़रें दीवार के पार जानी चाहिए
राजेश’अरमान’

Related Articles

Responses

New Report

Close