न वक़्त बेवफा

न वक़्त बेवफा न ज़माना
बस फासलों ने वफ़ा न की
 राजेश’अरमान’

Related Articles

Responses

New Report

Close