हर आती साँस जाती

हर आती साँस जाती साँस का अक्स है, और
हर जाती साँस आती साँस का आईना
राजेश’अरमान’

Related Articles

पुनर्विवाह (Part -2)

पुनर्विवाह (Part -2) विवाह संस्कार अपने आप में बहुत महत्वपूर्ण हैं, किसी भी महिला के लिए विधवा होने के दर्द से बड़ा दर्द, दुनिया में…

Responses

New Report

Close