हर आती साँस जाती

हर आती साँस जाती साँस का अक्स है, और
हर जाती साँस आती साँस का आईना
राजेश’अरमान’

Related Articles

ना समझ संतान

कहानी-ना समझ संतान पैतृक संपत्ति से कुशल किसान रहता था, अनेक पशुओं तथा कृषि यंत्रों के साथ एक सुनहरे भवन का मालिक था, किसान के…

Responses

New Report

Close