Vickey sonwani's Posts

कहानीयों में था हरा-भरा

“कहानीयों में था हरा-भरा” “अब कश्मीर का रंग लाल हो गया है” “शहीदों के लहू से रंग गयी है ज़मीन ” “जलीयांवाला बाग जैसा हाल हो गया है ” ~शाबीर »

अब डर सा लगता है

“अब डर सा लगता है सुबह-सुबह अखबार पकड़ने से” “न जाने कौन देश की बेटी, देश का जवान या देश का स्वाभीमान , लूट लिया हो ” ! ~शाबीर »

हवस की नजर है हर तरफ़

»

अपने नजरों की मेहर बरसा

»