ashmita

Friends

  • Profile picture of राही अंजाना
    राही अंजाना - "जिसने जब चाहा दिल से मेरे शरारत कर ली, अधूरी ख्वाइशों की जैसे पूरी इबारत कर ली, के रहमत रही खुदा की शायद इस नाचीज़ पर, जो मोहब्बत में ‘राही’ ने खड़ी इमारत कर ली।। राही अंजाना"View
    active 5 hours, 17 minutes ago
  • Profile picture of Antariksha Saha
    active 2 days ago
  • Profile picture of Anjali Gupta
    active 1 week, 4 days ago
  • Profile picture of Rajneesh Kannaujiya
    Rajneesh Kannaujiya - "@soniritu470 hi"View
    active 2 weeks ago
  • Profile picture of Panna
    Panna - "न उस रात चांदनी होती न वो चांद सा चेहरा दिखता न मासूम मोहब्बत होती न नादान दिला ताउम्र तडपता"View
    active 3 weeks ago
  • Profile picture of Ritu Soni
    Ritu Soni - "@pankaj-4 thanks a lot for voting my poem"View
    active 3 weeks, 1 day ago
  • Profile picture of Shivam Singh
    active 3 weeks, 1 day ago
  • Profile picture of Narendra Singh
    active 3 weeks, 3 days ago
  • Profile picture of Rahasya deoria
    Rahasya deoria - "उनसे गुफतगू ना हो “रहस्य “देवरिया ऐ खुदा काश कि अब से वो रूबरू ना हो , ख्वाबों में भी अब उससे गुफतगू ना हो ] कम्बख्त झूठे सपने देखना कौन चाहता है, वो रात ही ना हो जिसमें निंद पूरी ना हो ] याद ना करू ये तो तेरी […]"View
    active 4 weeks, 1 day ago
  • Profile picture of Priya Bharadwaj
    Priya Bharadwaj - "मैं बहुत ही सिंपल हूं और सिंपल सा ही लिखती हूं, उम्मीद है आपको पसंद आयेंगी मेरी कवितायें 🙂"View
    active 4 weeks, 1 day ago
  • Profile picture of Ajay Amitabh Suman
    active 1 month, 1 week ago
  • Profile picture of Ravi Bohra
    active 1 month, 1 week ago
  • Profile picture of Samyak Jain
    active 1 month, 1 week ago
  • Profile picture of bhoomipatelvineeta
    active 1 month, 2 weeks ago
  • Profile picture of Sheetal Yadav
    active 1 month, 2 weeks ago
  • Profile picture of Ekta Vyas
    Ekta Vyas - "है द्वंद आज मन में उठा , है क्यों नारी की यह दशा।। अब और नहीं बस बहुत हुआ, यह भाव है मन में जगा।। इस भाव का प्रभाव है,कि हुई वह उठ खड़ी।। ज्वाला आंखों में दृढ़ता मन में भरी।। अन्याय रोकने वह फिर है काली बनी।। पापि […]"View
    active 1 month, 3 weeks ago
  • Profile picture of KAVI NAVIN GOUD
    active 1 month, 3 weeks ago
  • Profile picture of Mithilesh Rai
    Mithilesh Rai - "तेरे बग़ैर तेरी तस्वीरों का क्या करूँ? मैं तेरे ख़्यालों की जंज़ीरों का क्या करूँ? अश्क़ों को छुपा लेता हूँ पलकों में लेकिन- मैं तेरे सपनों की ज़ाग़ीरों का क्या करूँ? मुक्तककार- #मिथिलेश_राय"View
    active 2 months, 2 weeks ago
  • Profile picture of Chandani yadav
    active 2 months, 2 weeks ago
  • Profile picture of Poonam singh
    active 2 months, 2 weeks ago