डर

मैं तूफाँ नहीं,
क्यों मुझसे डरते हो

ईर्ष्या मैं क्यों,
जल जल कर मरते हो

-विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)-

Related Articles

Responses

New Report

Close