तेरा सजदा – 107

तेरा सजदा – 107

         

कोई तेरी रोशनी में जीवन भर जीता है

कोई तेरी रोशनी को जीवन भर खोता है  

                                                       

                                           …… यूई

Related Articles

मन।

मन। क्यों घुट – घुट के जीता है रे मन? तुझे काया मिली इतनी माया मिली, तेरी राहों में बिखरा है मधुवन। क्यों घुट –…

तेरा सजदा – 51

तेरा सजदा – 51           कोई पल पल तेरे शुक्र में जीता कोई पल पल शिकायतों में जीता                                                          ….. यूई

Responses

New Report

Close