तेरा सजदा – 95

तेरा सजदा – 95

         

किसी का तुझसे मिलके जीना हो जाता है

किसी का बस ख़ुद में ही जीना रह्ता है                                                      

                                           …… यूई

Related Articles

Responses

New Report

Close