मन की चेतना

मन की चेतना
आत्मा की वेदना
सत्य का भेदना
अधीर प्रश्न
बुझे उत्तर
बिलखते प्रश्नचिन्ह
निष्कर्ष कुंठित
आज का आदमी

राजेश ‘अरमान’

Related Articles

Responses

New Report

Close