वफ़ा कहने को बस एक लफ्ज

वफ़ा कहने को बस एक लफ्ज
निभाना इसको है सबसे सहज़
अडिग है गर तेरा खरा ईमान
ता-उमर पयेगा साथ निष्ठावान

……यूई

Related Articles

माँ

माँ: जीवन की पहली शिक्षिका ******************** जीवन की पहली गुरु, मार्गदर्शिका कहाती है हर एक सीख,सहज लब्जों में सिखाती है ।। धरा पे आँखे खुली,माँ…

Responses

New Report

Close