हमने जफ़ा न सीखी

हमने जफ़ा न सीखी उनको वफ़ा न आई
पत्थर से दिल लगाया और दिल पे है चोट खाई

अपने ही दिल के हाथों बरबाद हो गए हम
किसके करें शिकायत अब किसकी दें दुहाई

दुनिया बनाने वाले मैं तुझसे पूछता हूँ
क्या प्यार का जहाँ में बदला है बेवफाई

हमने जफ़ा न सीखी उनको वफ़ा न आई
पत्थर से दिल लगाया और दिल पे है चोट खाई…


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

I love Poetry !!

1 Comment

  1. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 11, 2019, 10:57 pm

    वाह बहुत सुंदर रचना

Leave a Reply