हिंदी ग़ज़ल-बचना भगवान भी चाहिए

हिन्दी गजल- बचना भगवान भी जरूरी |
हिन्द जमीं राम भी जरूरी और रहीम भी जरूरी |
बना रहे सबमे भाईचारा दिलो यकीन भी जरूरी |
दो कदम तुम बढ़ो और दो कदम हम भी बढ़ेंगे |
राम जमीं फैसला जो हो होना मंजूर भी जरूरी |
सदियो दरियादिली सदभाव की मिसाल भारत |
वर्षो रहे राम से दूर बचना हिंदुस्तान भी जरूरी |
मामला मर्यादा श्रीराम जन्मभूमि या मदीना का |
दिया जन्म मानव वही बचना इंसान भी जरूरी |
बात कहनी नहीं करनी थी मुद्दा अदालत न जाता |
जो हुआ वो हुआ बचना मगर ईमान भी जरूरी |
काशी हो या काबा सबमे बस एक वही बसता है |
तुम मानो हम भी माने बचना भगवान भी जरूरी |
मंदिर मस्जिद गिरिजा या गुरद्वारा तोड़ा नहीं जाता |
बात आस्था अस्मिता बचना स्वाभिमान भी जरूरी |
किया जो दुश्मनों ने तुम भी करो वही ये सही नहीं |
दे दो हमारी इबादतगाह बनना भाईजान भी जरूरी |
श्याम कुँवर भारती [राजभर] कवि ,लेखक ,गीतकार ,समाजसेवी ,
मोब /वाहत्सप्प्स -9955509286
Email – shymakunvarbharti@gmail.com

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

12 Comments

  1. Poonam singh - October 19, 2019, 7:40 pm

    Nice

  2. महेश गुप्ता जौनपुरी - October 19, 2019, 8:23 pm

    वाह बहुत सुंदर

  3. NIMISHA SINGHAL - October 19, 2019, 9:38 pm

    Very nice

  4. देवेश साखरे 'देव' - October 20, 2019, 1:12 am

    सुन्दर रचना

  5. राम नरेशपुरवाला - October 20, 2019, 5:39 am

    वाह

  6. nitu kandera - October 20, 2019, 6:02 am

    Nice

  7. Poonam singh - October 20, 2019, 4:52 pm

    Good

Leave a Reply