Shyam Kunvar Bharti, Author at Saavan's Posts

हिन्दी कविता – ये राजनीती है |

हिन्दी कविता – ये राजनीती है |

हिन्दी कविता – ये राजनीती है | न कोई सिद्धान्त न ईमान ये राजनीति है | न कोई भगवान न शैतान ये राजनीति है | जो है आज दोस्त कल बन जाएंगे दुश्मन | न कोई हिन्दू न मुसलमान ये राजनीति है | मिले पद पावर जोड़ तोड़ करना पड़ता है | डूबे या उबरे सारा हिंदुस्तान ये राजनीति है | देश मे हो हजारो समस्याए तो रहने दो | बैठे कुर्सी अपना खानदान ये राजनीति है | कहते कुछ और करते कुछ और है सब | चाहे सारी जनता हो परेसान ये ... »

हिन्दी कविता-हार न जीत का जश्न |

हिन्दी कविता-हार न जीत का जश्न |

हिन्दी कविता-हार न जीत का जश्न | हुआ फैसला राम मंदिर नहीं हार न जीत जशन करे | बना रहे अमन चैन वतन राम रहीम सब नमन करे | विवाद सैकड़ो सालो काअब सबने मिल खत्म किया | मिला झोली जिसके जो भी सब उसका जतन करे | मंदिर राम बने अयोध्या मे बने मस्जिद भी जरूरी है | मिटाकर गीले शिकवे बन के भाई आओ भजन करे | सदियो रहे मिलके आगे भी दस्तूर ये जींद रहे हमारा | लाख चाहे कोई करना अलग मिल सब समन करे | है मक्का मदीना इब... »

भोजपुरी कविता- भारत देशवा

भोजपुरी कविता- भारत देशवा दुनिया मे सबसे महान | भारत देशवा मोर जान | कश्मीर से कन्याकुमारी हऊवे एक ही दुआरी | यूपी बुहार बाड़े शानवा हमार | हरियाणा पंजाब उगावे सोनवा बघार | गुजरात राजस्थान दुधवा अघान | भारत देशवा मोर जान | उड़ीसा बंगाल हऊवे चऊरा के खान | खनिजवा के खान झारखंडवा के नाम | महाराष्ट्र आंध्रा अऊरी मध्य प्रदेश | तमिलनाडु देले सबके सुंदर संदेश | करी केतना देशवा गुणगान | भारत देशवा मोर जान |... »

हिन्दी गजल- दिल की किताब |

हिन्दी गजल- दिल की किताब |

हिन्दी गजल- दिल की किताब | दिल की किताब तेरी पढ़ लूँ तो क्या होगा | बिन कहे बात तेरी जान लूँ तो क्या होगा | जितना चाहो छिपा लो छिपा ना सकोगे | भाषा तेरी आंखो समझ लूँ तो क्या होगा | तू मेरे सामने रहे न रहे तुझे पहचान लूँगा | हवाओ गंध तेरी मै सूंघ लूँ तो क्या होगा | तू गम सहे मुझे मालूम न हो नामुमकिन | गम सारे तेरे अगर छिन लूँ तो क्या होगा | कुछ कहे न कहे राज फिजाँ बता देगी | तेरे लब्ज जुबां बयां कर ... »

हिन्दी कविता- आसमान की बुलंदी

हिन्दी कविता- आसमान की बुलंदी

हिन्दी कविता- आसमान की बुलंदी गिरा तो फिर भी उठ जाएगा | झुका नहीं तो तू टूट जाएगा | छूना है आसमान की बुलंदी | पाँव उठा तो आधार छुट जाएगा | हारा भी तू योद्धा लड़ा तो सही | पीछे मुड़ा मुकद्दर रूठ जाएगा | सफर क्या जिसमे आंधिया न हो | हौसला रख तू गुबार फुट जाएगा | मांगना है हिम्मत मांगो खुदा से | मंजिल मिलेगी अंधेरा छंट जाएगा | पाना मुकाम आसान नहीं होता | जुनून की हद रोड़ा हट जाएगा | श्याम कुँवर भारती [र... »

भोजपुरी कविता- सूझबूझिया लगइबा ना त |

भोजपुरी कविता- सूझबूझिया लगइबा ना त |

भोजपुरी कविता- सूझबूझिया लगइबा ना त | सूझबूझिया लगइबा ना त कईसे होइहे किसनिया | धनवा कटाई खेतवा जोताई करा गेहुआ बोवनिया| गोबरा के खदीया खेतवा मे डलिहा मटिया मिलाई | खर पतवरवा चुनी निकलिहा हरवा बयलवा चलाई | आइब हमहु खेतवा बनाई लिट्टी चोखा औरी चटनिया | किट पतंगवा से गेंहुआ बचावेके सङ्गे दवइया डालेके | सूझबूझिया लगाई जानवर चउआ से खेतवा बचावेके | लह लहलहाई हरियर गेंहुआ बलिया बही पवनिया | समईया देखि सि... »

हिन्दी गजल- ठहर जाऊंगा |

हिन्दी गजल- ठहर जाऊंगा |

हिन्दी गजल- ठहर जाऊंगा | तेरी जुल्फ नहीं जो बिखर जाऊंगा | आजमा लो हद से गुजर जाऊंगा | झोंका गिरादे रेत की दीवार नहीं | तेरे वादे मै ताउम्र ठहर जाऊंगा | तू है तो मै, मेरी जिंदगी ये दुनिया | गर तू नहीं अगर मै किधर जाऊंगा | मेरा इश्क इबादत तेरा दिल पत्थर | हो करम खुदा बनके सुधर जाऊंगा | मै समन्दर नहीं अपनी हर हद मे रहूँ | तेरी हंसी हर वादे मै मुकर जाऊंगा| मै तेरा शेर तू मेरी गजल की तरह | दील हो असर ब... »

हिन्दी कविता – नाम हिंदुस्तान हमारा |

हिन्दी कविता – नाम हिंदुस्तान हमारा |

हिन्दी कविता – नाम हिंदुस्तान हमारा | नाम हिंदुस्तान हमारा होगा काम तमाम तुम्हारा | रहो अपनी औकात बुरा होगा अनजाम तुम्हारा | हर तरफ घिर चुके निगाहों सबकी गिर चुके तुम | टकराए जो हमसे तुम टूटेगा यूं गुमान तुम्हारा | हमारी चिंता छोड़ो अपनी बदहाली गरीबी देखो | करके हमे लहूलुहान पहुंचा कहा मुकाम तुम्हारा | भेजा तुमने कितने कातिल हमारे कत्ल के वास्ते | पहुंचाया दहसतगर्दो जहन्नुम छिना मुस्कान तुम्हारा | ... »

हिंदी ग़ज़ल-बचना भगवान भी चाहिए

हिन्दी गजल- बचना भगवान भी जरूरी | हिन्द जमीं राम भी जरूरी और रहीम भी जरूरी | बना रहे सबमे भाईचारा दिलो यकीन भी जरूरी | दो कदम तुम बढ़ो और दो कदम हम भी बढ़ेंगे | राम जमीं फैसला जो हो होना मंजूर भी जरूरी | सदियो दरियादिली सदभाव की मिसाल भारत | वर्षो रहे राम से दूर बचना हिंदुस्तान भी जरूरी | मामला मर्यादा श्रीराम जन्मभूमि या मदीना का | दिया जन्म मानव वही बचना इंसान भी जरूरी | बात कहनी नहीं करनी थी मुद्... »

भोजपुरी गीत कटार तोरे नैना

भोजपुरी गीत(श्रिंगार रस )- बरछी कटार तोहार नैना | बरछी कटार तोहार नैना दिल के पार हो जाई | ओ ओ सजनी हमार होस उड़ा जाई | सुना हो सजनी हमार होस उड़ा जाई | होठवा से छलके तोहार मदवा के प्याला | हिरनी जईसन कारे नैना बाड़े मतवाला | गोरे गोड़वा के पायलिया जब छनका जाई | सुना हो सजनी हमार होस उड़ा जाई | मिटावा मिटावा पियासिया के लगन की | रात दीन सतावे गंधवा तोहरे बदन की | नींदिया भोराई हाथ तोहरे जब सेज सजी जाई ... »

Page 1 of 3123