देव कुमार's Posts

चल आज तू……

चल आज तू मुझे अपना रहनुमा बना दे, इसी बहाने मेरी ज़िन्दगी भी खुशनुमा बना दे…….!! -Dev Kumar »

चल आज तू

चल आज तू मुझे अपना रहनुमा बना दे, इसी बहाने मेरी ज़िन्दगी भी खुशनुमा बना दे…….!! -Dev Kumar »

“You are my life, You complete me”….

Don’t go……Don’t go……Don’t go Please stop yourself without you i am not complete i will destroy myself there is no meaning of life if you are not with me it is humble request don’t let me alone in the world only you are……just you are my first & last wish of my life i will never hurt you and never tired you too i will always take care o... »

चली कलम फिर…….

चली कलम फिर आज कागज पर एक नगमा सा वो बन गया तन्हाई ने फिर करवट बदली एक गमो का जलसा सा वो बन गया देव कुमार »

खुली आँखों का खुवाब……

खुली आँखों का खुवाब अच्छा नहीं होता बेबसी का रुआब अच्छा नहीं होता जो अपने बन कर भी न बन सके अपने उन पर मोहोब्बत का दवाब अच्छा नहीं होता देव कुमार »

Es dil ki Ek zid hai……

Es dil ki Ek zid hai Bas wo puri Ho jaaye….! Ham aur hamari mohobbat Dono uske liye jaruri Ho jaaye….!! -Dev Kumar »

Logo se apna chehra…….

Logo se apna chehra chupa ke rona Ke aansuon ko ankhon main chupa ke rona…….! Log padh lete hai har lakiron ko Jab bhi Rona lakiron ko meeta kar Rona…….!! Dev Kumar »

कुछ तो बात जरूर…..

कुछ तो बात जरूर रही होगी तुम दोनो के दार्मियां मोहोब्बत का रिश्ता क्यू समझोते पर आ गया मिला हैं तुमको भी वंही उससे बदले में दिल के जो तुमने उसको इस मोहोब्बत में दिया…………..!! -देव कुमार »

Meri ankhon main……

Meri ankhon main aansuon ka pehra hai Mera dil bahut sehma hai Kyun hath rakhte Ho mere dil par tumsab Mera jakham abhi bahut gehra hai………!! -Dev Kumar »

लोग करने लगे है……

लोग करने लगे है दिल्लगी और रिस्तों को ताड ताड….! कुछ इसलिये भी मोहोब्बत अब बदनाम हो गई है….!! – देव कुमार »

बिखरी जुल्फों की लटा……

बिखरी जुल्फों की लटा, आँखें लाल दिखाई देती है हमें तुम्हारी ज़िन्दगी बेहाल दिखाई देती है कल रात का फसाना आपका सुना था हमने भी इसलिये भी आज आप बदहाल दिखाई देती है -देव कुमार »

Reason of failure…….

“Sometimes the reason of failure is not a attention, infact it might be consideration too””……! -Dev Kumar »

Quote-Love……

“Love is nothing, just a emotion or feelings of Heart……! -Dev Kumar »

Quote…….

“Age is nothing just a game of number”…….! -Dev Kumar »

तुम रोक तो सकते थे….

हम तो चल दिये थे अपना कारवा लिए, मगर तुम रोक तो सकते थे हम तो चल दिये थे अपने आंसू लिए, मगर तुम रोक तो सकते थे हम तो चल दिये थे अपने गम को लेकर, मगर तुम रोक तो सकते थे हम तो चल दिये थे अपनी तन्हाई लेकर, मगर तुम रोक तो सकते थे हम तो चल दिये थे मौत की तरफ, मगर तुम रोक तो सकते थे……!! -देव कुमार »

Fact of love……

Some people say to me after seeing my condition that You are poor and due to it you are not able to do love How can I teach them they don’t know one thing That love is the fact of heart not the fact of human’s condition……!! -Dev Kumar »

Love…….

Whenever I think about the Love Then many questions around in my mind What is the real value of love for human And what is the real meaning of love…….!! -Dev Kumar »

Love v/s Life……

Some people say that love is their life Some people say that life is their love Difference between above two is that Former think that love is precious Later think that life is precious….!! -Dev Kumar »

Love’s dealing…..

Love is not the question of human’s life It is the matter of love’s feeling We take happiness and sadness both by it Since it keeps on happening in love’s dealing…….!! -Dev Kumar »

Don’t show your…….

Don’t show your tears to everyone Don’t show your feelings to everyone They will make fun with your life Don’t show your emotions to everyone……!! -Dev Kumar »

Heart’s Role…….

My life is nothing except a big whole It has neither any aim nor any goel Nobody is responsible for this condition It is totally happened by my heart’s role….. -Dev Kumar »

Part of my life……

Don’t take my sadness from my life It is the only way to live my life Now I can’t live without it Since it becomes the essential part of my life….. -Dev Kumar »

I have found…….

I have found deceiveness in my life I have found aloneness in my life I couldn’t find happiness movement I have found only sadness in my life…… -Dev Kumar »

Past life……

Whenever I think about my past life Lots of questions around in my mind I am not able to find Solution about it Perhaps my life is like a blizzard wind…… -Dev Kumar »

इश्क में मिली मजदूरी….

गम और तन्हाई का साथ नहीं मजबूरी हैं साहिब ये और कुछ नहीं इश्क में मिली मजदूरी हैं साहिब….!! -देव कुमार »

who’ll make my day……

who’ll make my day who’ll huge me Now you was there in my life it was similar to heaven for Me….! who’ll make smile on my face who’ll give me a hope you was there in my life it was similar to heaven for Me….! -Dev Kumar »

हमारी तारीफ क्या….

हमारी तारीफ क्या पुछते हो, बस इतना सुन लो साहिब…! ज़िसका कोई जवाब नही, ऐसा एक सवाल हैं हम…!! -देव कुमार »

कुछ लोग दिलजले भी…..

ठिकाना भी मिल जाएगा, और दर्द-एे-गम की दवा भी….! माना दुनिया मतलबी हैं मगर, कुछ लोग दिलजले भी हैं साहिब….! -@ देव कुमार »

कुछ पहेलियां…..

कुछ पहेलियां ज़िन्दगी की मैं सुलझा ना सका, उसमें से एक तेरी ज़ालिम मोहोब्बत हैं….!! -देव कुमार »

देर ना करना……

ना कभी उफ़ किया, ना कभी किया कोई शिकवा आपसे आज आखरी पडाव हैं ज़िन्दगी का, देखो आने मे देर ना करना….!! -@देव कुमार@- »

I will hurt you…..

I will hurt you, this sentence hurt me a lot……!! -Dev Kumar »

love is a Sweet poison……

Don’t go with love, it’s not easy for you….! Since it spoiled your life, coz love is a Sweet poison….!! -Dev Kumar »

दूर दूर तक……

इस शहर का बहुत बुरा हाल देखा हमने हर इंसान को गम से बेहाल देखा हमने दूर दूर तक गम, तन्हाई, और ज़िल्लत देखी हर गली, हर कूचा इश्क-ऐ-ऐतराम देखा हमने….!! -देव कुमार »

पहले वाली बात नहीं…….

चलो रहने भी दो अब बहानेबाजी कैसी, तुम आ तो गये हो, मगर अब वो पहले वाली बात नहीं….!! -देव कुमार »

Today I will take time…..

Once again I saw you in the arm of someone’s else and I caught you with Gossip too….! Today I will take time to think and today I will take my final decision too….!! -Dev Kumar »

कही इसने आज…..

बड़े ही नाराज दिखते हो आज आप मोहोब्बत से….! कही इसने आज आपको भी तो नहीं लूटा….!! -देव कुमार »

दगा देना और दिल तोडना…..

कोई और बात हो तो हमको बतलाओ साहिब, के दगा देना और दिल तोडना आपकी पुरानी आदत हैं….!! -देव कुमार »

वरना इश्क का क्या हैं……

ये तो अपनी अपनी किस्मत हैं साहिब, वरना इश्क का क्या हैं किसी को मिलता हैं और किसी को नहीं भी….!! -देव कुमार »

अपनी मोहोब्बत का……

चलो तमाशा बनाते हैं आज अपनी मोहोब्बत का, हम गिङगिङाएगे आप के सामने, और आप मुंह फैर लेना….!! -देव कुमार »

मेरे इस दिल ने……

गम, तन्हाई, रूसवाई, और तड़प ना जाने कितने गम पाल रखे है मेरे इस दिल ने….!! -देव कुमार »

लड़ते लड़ते……

हार क्या होती है य़े तब हमने जाना, जब हम खुद हारे मोहोब्बत से लड़ते लड़ते…!! -देव कुमार »

उदास क्यूँ रहते हो…..

उदास क्यूँ रहते हो अपने गम को लेकर के दुनिया मैं किस के पास गम नही हैं साहीब…..!! -देव कुमार »

य़े गुलाब……

पूछा जो उसने य़े गुलाब कितने का हैं, हमने हाथ का छाला उसको दिखा दिया रो कर उसने जो हमारा हाथ चूमा, सारे दर्द को मिटा दिया….!! -देव कुमार »

आँखों मैं आंसू….

आँखों मैं आंसू, और दिल मैं सदा रखते हैं कुछ लोग ऐसे भी अपनी मोहोब्बत को बया करते हैं….!! -देव कुमार »

एे खुदा….

एे खुदा चल आज तू ही फैसला कर दे, मिला दे मुझको उससे य़ा सांसो को मुझसे जुदा कर दे….!! -देव कुमार »

इतनी इज्ज़त…..

इतनी इज्ज़त न हमें बक्शो साहिब…. के मोहोब्बत की दुनिया में अपनी कोई इज्ज़त नहीं हैं….!! -देव कुमार »

आँखों में…..

आँखों में मैं खुवाब लिए फिरता हू, इसलिये भी मोहोब्बत से मैं डरता हू….!! -देव कुमार »

ज़रा सोच लेना….

ज़रा सोच लेना, फिर फैसला सुनाना साहिब….! के सवाल ज़िन्दगी का नहीं, दिल, ज़जबात, और मोहोब्बत का भी हैं….!! -देव कुमार »

सिवाय एक इश्क के….

सब कुछ पाया ज़िन्दगी में, सिवाय एक चीज के…! दोस्ती, रिश्ता, अपनापन, सिवाय एक इश्क के…!! -देव कुमार »

मोहोब्बत का कर्जा…..

दिया गम, तन्हाई, रूसवाई और आँसू….! कुछ इस तरह मोहोब्बत का कर्जा चुकाया उसने….!! -देव कुमार »

Page 1 of 8123»