Jane kaha ja rahi aj ki pidhi

सभी मित्रों को हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

जाने कहां जा रही आज की पीढ़ी,
नए नए ढंग है इनके,
नई नई सोच है इनकी,
नया जमाना अब है इनका,
साड़ी सलवार पुरानी हो चुकी लड़कियों को,
चुड़िया दुपट्टा पुरानी हो चुकी लड़कियों को,
ऊंची हील की सैंडल है भाता इनको,
पैजामा कुर्ता पुराना हो चुका लड़कों को,
धोती कुर्ता न भाता इनको,
विदेशी हो गई है सोच इनकी ,
विदेशी हो गया है पहनावा इनका ,
छोटे कपड़े हो गए हैं इनके,
बाल भी रंग गए हैं इनके,
फटा जींस है फैशन इन का ,
बेढंगा कटा बाल है फैशन इनका,
ढंग बोलने का गजब है इनका.
अंग्रेजी का नशा है इनको,
हिन्दी की कदर नही इनको,
मुबाईल ही सबकुछ है इनका,
बुजुर्गों की कदर नहीं इनको |

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

Responses

New Report

Close