Poonam singh, Author at Saavan's Posts

Shikva

है लाख सितम ढाहे, ऐ जिंदगी, शिकवा करूं मैं किससे किससे, मिलता नहीं सभी को जन्नत, सुख दुख दो पहलू हैं जिंदगी के, है आरजू पाने की जन्नत तो पार कर लेते हैं आग का दरिया, न कर भरोसा नसीब का, जाने कब किसी को दे देती है धोखा, मेहनत ही सच्चा साथी है जो हर पल निभाता साथ है तेरा, मिल जाती है अपनी मंजिल, गर मेहनत हो सच्चा सच्चा | »

Ai sardi suhani si

किसी नाजुक कली सी, आंखें कुछ झुकी हुई शरमाई सी, हौले हौले दबे पांव आई ही गई सर्दी सलोनी सी, खिली हुई मखमली धूप में, आई किसी की याद सुहानी सी, दबी दबी मुस्कुराहट, होठों पर छाई सी, पता चला नहीं कब ढल गया दिन यूं ही, आई ठिठुरन की रात लिए कुहासों की चादर सी, सुबह धुंध का पहरा है, लगता बादलों का जमावड़ा सा, ढकी है चादर धुंध की राहों में, दूर-दूर तक कुछ भी नजर नहीं आता राहों में, गर्म चाय की चुस्की दे र... »

Teri yaden

बरसों बीत गए, तुमसे बिछड़े हुए, पता नहीं कहां, तुम चले गए, एक आंधी सी आई, और तुम चले गए, रह गई बाकी, बस तेरी यादें, तेरी बेपरवाह हंसी के फव्वारे, तेरी चंचल आंखों की चितवन, तेरी बेपनाह मोहब्बत, महसूस होता है मेरे दिल को, तुम मेरे आस-पास हो, सुनते हो मेरी हर बातें, तन्हाई में तुम मेरे साथ हो, इन वादियों में तुम हो, समंदर की लहरों में तुम हो, इन फूलों में तुम हो, इन हरियाली में तुम हो, हर जगह तुम ही ... »

Junun

गर दिल में हो जुनून, मंजिल पा ही लेंगे हम, हो रास्ता कठिन, पर हो हौसला बुलंद, मंजिल पा ही लेंगे हम, हो तूफानों की डगर, पर हो साथ हमसफर, मंजिल पा ही लेंगे हम | »

Salam

सलाम है तेलंगाना पुलिस को, जिन्होंने न्याय त्वरित दे ही दिया, है सीख लेने की बाकी प्रदेशों की पुलिस को, जैसे उन्होंने एनकाउंटर किया, बनेगा डर उन भेडियो को, सोचेगे सौ बार वो गुनाह करने से पहले, मिला न्याय उस मासूम बेटी को, आना होगा आगे सरकार को, अब जरूरत है न्याय व्यवस्था सुधारने की, बने त्वरित न्याय व्यवस्था, भूखे इन भेडियों के लिए, होगा तब भारत का कल्याण | »

Sarmsar ho rahi aye pavan dhartiti

आज शर्मसार हो रही यह पावन धरती, नीलाम हो रही मां बहनों की इज्जत, भटकते इन भूखे भेड़ियों से, है निवेदन सभी माताओं से, संस्कार दे बच्चों को ऐसी, जो दूषित न करे समाज को, वो भविप्य अपना उज्जवल करें, साथ ही दूसरों का भी साथ दे, करनी होगीं प्रतिज्ञा कडी, कोई भी न बने संस्कारविहीन, तभी निखरेगा भारत महान | »

Ma baba

मां बाबा अनमोल है दोस्तों, गलती से भी इन्हें तुम न ठुकराना, किस्मत वाले को मिलता है इन दोनों का प्यार दोस्तों, इनकी इज्जत तुम करना, हीरे मोती फिर से तुम पा लोगे दोस्तों, मां बाबा दुबारा नहीं मिलेंगे, उनके गुस्से को गुस्सा तुम न समझना दोस्तों, वह तो आशीर्वाद का दूसरा रूप है, न जाने कितनी ख्वाहिशे उन्होंने दवाई है दोस्तों, उनकी सारी ख्वाहिशें तुम पूरा करना, उन्होंने जो कहा तुम्हारे अच्छे के लिए कहा ... »

Ek tu hi nahi

सब है यहां, एक तू ही नहीं, जाने क्या खता हुई मुझसे, और तुम चल दिए दूर मुझसे, याद तेरी दिल से जाती नहीं, तुझ बिन कहीं जी लगता नहीं, चाहता है दिल तुम होते तो, कभी किसी बात पर हंसते, कभी किसी बात पर मुस्कुराते, कभी किसी बात पर खफा होते, तेरा गुस्सा भी मुझे अच्छा लगता, तुम इतने खफा हो गए कि हमें भूल ही गए, अभी भी इंतजार है तेरा, आ जाओ तुम कहीं से, खिल जाएगी खुशियों की बगिया मेरी | »

Beti ki pukar

कहती है सरकार यहां, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, पर कहां सुरक्षित है बेटियां यहा, कभी था हमारा देश, सारे जहां से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा, अब तो इंसानियत न बची यहां, अब तो जमीर मर गई हैं यहां, रिश्तो का कत्लेआम हो रहा, बेटियां जाए तो जाए कहां, हर जगह है भेड़ियों की फौलाद यहां, बेटी घर से निकलना छोड़ दे? वह अपने अरमानों का गला घोट ले? अब है यह वक्त की पुकार यहां, पारित हो नया कानून यहां, उन भेड़ियों के लिए... »

Beti ki pukar

कहती है सरकार यहां, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, पर कहां सुरक्षित है बेटियां यहा, कभी था हमारा देश, सारे जहां से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा, अब तो इंसानियत न बची यहां, अब तो जमीर मर गई हैं यहां, रिश्तो का कत्लेआम हो रहा, बेटियां जाए तो जाए कहां, हर जगह है भेड़ियों की फौलाद यहां, बेटी घर से निकलना छोड़ दे, वह अपने अरमानों का गला घोट ले, अब है यह वक्त की पुकार यहां, पारित हो नया कानून यहां, उन भेड़ियों के लिए... »

Page 1 of 13123»