Khushio ki saugat hoti hai aulad

खुशियों की सौगात होती है औलाद,
जीवन का संगीत होती है औलाद,
माता-पिता की गर अच्छी हो औलाद,
बुढ़ापे की लाठी होती है औलाद,
फल की मिठास होती है औलाद,
फूलो की सुन्दरता होती है औलाद,
झडनो की सरगम होती है औलाद,
नदियों की कल कल होती है औलाद,
जीने की तमन्ना होती है औलाद,
सूरज चांद तारों की चमक होती है औलाद,
सुख का अहसास होती है औलाद,
बुजुर्गों का आशीर्वाद होती है औलाद,
भगवान का प्रसाद होती है औलाद |

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

16 Comments

  1. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 8, 2019, 4:59 pm

    वाह बहुत सुंदर रचना ढेरों बधाइयां

  2. Kanchan Dwivedi - September 8, 2019, 5:02 pm

    Good

  3. NIMISHA SINGHAL - September 8, 2019, 5:26 pm

    Nice

  4. राही अंजाना - September 8, 2019, 6:26 pm

    वाह

  5. देवेश साखरे 'देव' - September 8, 2019, 6:41 pm

    बहुत सुंदर कृति

  6. ashmita - September 8, 2019, 7:00 pm

    Nice

  7. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 8, 2019, 8:25 pm

    वाह बहुत सुंदर रचना

  8. Kanchan Dwivedi - September 8, 2019, 8:34 pm

    वाह

  9. राम नरेशपुरवाला - September 9, 2019, 9:13 am

    अच्छा है

  10. NIMISHA SINGHAL - September 10, 2019, 9:11 am

    Sunder rachna

  11. राम नरेशपुरवाला - September 12, 2019, 11:02 pm

    👌👍

Leave a Reply