Poems

जो हूँ मैं – 7

जो हूँ मैं वह हर पल शिल्पकार है,

जो नहीं मैं वह मुर्दा बेकार है

जो हूँ मैं – 6

जो हूँ मैं वह अन्दर से हूँ सुंदर,

जो नहीं मैं वह बाहर हूँ आडंबर

जो हूँ मैं – 5

जो हूँ मैं वह है सबका सदा,

जो नहीं मैं वह ना किसी का सगा 

जो हूँ मैं – 4

जो हूँ मैं वह पूर्ण एह्सास हूँ,

जो नहीं मैं वह शून्य का वास हूँ

जो हूँ मैं – 3

जो हूँ मैं वह तो है मेरे सुकर्म,

जो नहीं मैं वह थे मेरे दुष्कर्म

जो हूँ मैं वह सबका मीत है,

जो नहीं मैं वह ख़ुद का गीत है

Page 1334 of 1518«13321333133413351336»