आस पास

जिसको रहना हो वो मेरे आस – पास रहे,
जिंदगी में कोई तो हो जो सबसे ख़ास रहे,

ऐसा न हो के सब हँसते रह जाएँ तुमपर,
और एक कोने में बैठा वो दिल उदास रहे,

दिन रहे रात रहे सुबह से शाम प्यास रहे,
रिश्ता अनकहा सही उसमें भरी मिठास रहे॥

राही अंजाना

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

13 Comments

  1. Astrology class - November 5, 2019, 11:39 am

    Nice

  2. NIMISHA SINGHAL - November 5, 2019, 12:08 pm

    Wah kya khub

  3. देवेश साखरे 'देव' - November 5, 2019, 2:04 pm

    वाह

  4. Poonam singh - November 6, 2019, 3:43 pm

    Good

  5. nitu kandera - November 8, 2019, 9:17 am

    Good

  6. Neha - November 10, 2019, 2:33 pm

    Waah

Leave a Reply