ऐसा भारत बनाए

कविता
ऐसा एक भारत बनाए
नैतिकता क अभाव में, हमने जो स्वच्छता को अपनो से अलग किया।
तरह तरह के बीमारियों को गले लगा कर, अपना अनमोल जीवन नष्ट किया।।
आओ हिन्द देश के निवासी, स्वच्छता के एक नया संसार बनाए।
चारो दिशाओं में हो हरियाली ही हरियाली ऐसा
एक भारत बनाए।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - March 27, 2020, 12:43 pm

    Nice

  2. Kanchan Dwivedi - March 27, 2020, 10:17 pm

    Very nice lines

  3. NIMISHA SINGHAL - March 28, 2020, 9:07 pm

    🇮🇳

  4. Pragya Shukla - April 1, 2020, 2:10 pm

    🇮🇳🇮🇳🇮🇳🙏

  5. Priya Choudhary - April 2, 2020, 4:47 pm

    जय भारती

Leave a Reply