चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर

लेके काँधे पे बन्दूक
दिल में देशप्रेम अटूट
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।
न हीं जीवन की मोह
न हीं परिजन बिछोह
देश के खातिर दिया सब कुछ है छोड़।
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।।
ये हमारे वीर सिपाही
लड़ने में न करे कोताही
जलती धरती अंबर बरसे घनघोर।
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।।
नहीं किसी से वैर है
न अपना कोई गैर है
भारत माँ की रक्षा में है न कोई थोड़।
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।।
विस्तारवाद नहीं इनकी चाह
विकासवाद के चलते राह
५६ इंच की सीना देख यार पुड़जोर।
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।।
कारगिल में था वैरी रोया
रोया था गलवान में।
दुश्मनों के छक्के छुराए
डरे नहीं बलिदान में।।
‘विनयचंद ‘ इन वीरों के दिल से लागे गोर।
चल पड़े हैं वीर देखो शरहद की ओर।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

मेरे लफ्ज़

मोहलत

कविता कहना छोड़ा क्यों ?

कहाँ है हमारी संवेदना

44 Comments

  1. Dhruv kumar - July 6, 2020, 5:06 pm

    Sunder Rachana
    Jai jaban

  2. BHARDWAJ TREKKER - July 6, 2020, 8:51 pm

    Jai hind

  3. BHARDWAJ TREKKER - July 6, 2020, 8:52 pm

    Bahut badhiya

  4. Vasundra singh - July 7, 2020, 11:48 am

    nice

  5. Saurabh Mittal - July 7, 2020, 9:54 pm

    good

  6. Sulekha yadav - July 7, 2020, 10:06 pm

    nice poem

  7. Anuj Jha - July 8, 2020, 7:16 am

    Bahut hi sundar rachna
    Jai hind

  8. Deepak Sharma - July 8, 2020, 7:32 am

    Nice Lines Pandit ji 🙏

  9. Geeta kumari - July 8, 2020, 8:05 am

    सुंदर रचना

  10. Santosh Kumar - July 8, 2020, 12:12 pm

    Nice poetry
    Jay Javan
    Jay hidustan

  11. Ansu Kumar - July 8, 2020, 12:30 pm

    Good poem pandit hi jay hind

  12. Alok Kumar - July 8, 2020, 1:55 pm

    बहुत खूब

  13. Anshita Sahu - July 8, 2020, 2:00 pm

    nice

  14. Shuresh Singh - July 9, 2020, 11:27 pm

    बेहतरीन

  15. Loveable Vishal - July 10, 2020, 9:08 am

    Awesome

  16. Mukesh Kumar - July 10, 2020, 9:41 am

    Nice poem Panditji

  17. Mukesh Kumar - July 10, 2020, 9:41 am

    Jai hind

  18. Mukesh Kumar - July 10, 2020, 9:42 am

    Jai jaban

  19. PRAGYA SHUKLA - July 10, 2020, 11:18 am

    Good

  20. Priyanka Nogiya - July 10, 2020, 12:59 pm

    Bht sunder👌👌

  21. Abhishek kumar - July 10, 2020, 9:37 pm

    🇮🇳🇮🇳👌👌

  22. महेश गुप्ता जौनपुरी - July 11, 2020, 12:05 am

    बेहतरीन

  23. Abhishek kumar - July 31, 2020, 1:58 am

    वीर रस से ओतप्रोत रचना आपकी देशभक्ति को दिखा रही है

Leave a Reply