जान

मेरे दिल की आन हो तुम
मेरे मन की शान हो तुम
थोड़ी नादान हो
पर मेरी जान हो तुम

मुस्कुराओ तो फूल खिल जाये
तुम्हारी ख़ुशी में मुझे सब मिल जाये
इस अंजानी दुनिया में
मेरी पहचान हो तुम

तुम्हे बस देखता रहू वारि वारि
तुझमे ही मेरी दुनिया सारी
तुमसे ही महके ज़िन्दगी
मेरी गुल-ए-गुलज़ार हो तुम
– हिमांशु ओझा


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

6 Comments

  1. Panna - June 6, 2020, 12:43 pm

    बहुत खूब

  2. Pragya Shukla - June 6, 2020, 5:51 pm

    👌👌

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - June 6, 2020, 9:31 pm

    Nice

  4. Abhishek kumar - July 12, 2020, 11:57 pm

    गुड

  5. Kumar Piyush - July 21, 2020, 10:09 pm

    nice

Leave a Reply