जो झुका वोही तो फलता है

जो झुका वोही तो फलता है

जो अकड़ा वोही तो कटता है

 

                  …… यूई

Related Articles

पिता

किसी अनजान से बोझ से झुका झुका ये फल दरख्त़ की झड़ों में ढूंढ़ता सुकून के चन्द पल। कभी मिले पत्तों के नर्म साए तो…

Responses

New Report

Close