जो मर मर के जिया

जो मर मर के जिया, वोह ख़ुद का ना मीत
जो ना हुआ ख़ुद का मीत, वोह कैसा तेरा मीत

……यूई

Related Articles

Responses

New Report

Close