तिरंगे के दीवाने

तिरंगे के दीवाने

मिट गये तेरे दीवाने वतन के लिए-2
आंख दिखा के न जाये,आंच आने न पाए
सर कटाते रहेंगे इसके क़फ़न के लिए
मिट गये तेरे दीवाने वतन के लिए-2
हिन्दू-मुस्लिम हो भाई,क्या सिक्ख क्या ईसाई
सब मिलके खड़े है इसके जतन के लिए
मिट गये तेरे दीवाने वतन के लिए-2
रंग हरा है हरियाली जैसे फैली खुशहाली
श्वेत रंग है हमारे अमन के लिए
मिट गये तेरे दीवाने वतन के लिए-2
केसरिया रंग बलिदानी,वीरता की निशानी
शरहदो पे खड़े है दुश्मन के पतन के लिए
मिट गये तेरे दीवाने वतन के लिए-2


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 30, 2019, 7:11 am

    Jai hind

  2. Abhishek kumar - November 30, 2019, 10:57 am

    Good

  3. देवेश साखरे 'देव' - November 30, 2019, 10:57 am

    बहुत खूब

  4. NIMISHA SINGHAL - November 30, 2019, 3:05 pm

    Jai hind

  5. Poonam singh - November 30, 2019, 4:21 pm

    Nice

  6. nitu kandera - December 1, 2019, 5:39 pm

    Good

  7. D.K.bharati MGS - December 1, 2019, 9:32 pm

    Thank you

Leave a Reply