गीत

साईं भजन

“एक मालिक सभी का “कहने वाले। सुन साईंं मेरे शिरडी वाले ।। राम को पूजा कृष्ण को पूजा। अल्ला ईसा देव नहीं दूजा।। एक मस्जिद को द्वारका कहने वाले। सुन साईंं मेरे शिरडी वाले।। पानी भर -भर दीप जलाया। दुखियों का सब कष्ट मिटाया।। अपना सबको कहने वाले। सुन साईंं मेरे शिरडी वाले।। »

Raajdulara

है इस जगत की सारी खुसिया, मातृभूमि के चरणो में। माँ ही है इस जग की जननी , है सारा ही जा उससे। उसकी एक प्यारी लोरी में ,सातों स्वर मुझको मिलते है। उसके मीठे बोल मुझे, इस जीवन से अच्छे लगते है। माँ का आँचल तो ,मुझको इस जीव जगत से प्यारा है। हर बेटा इस जग में अपनी माँ का राजदुलारा है। »

एहसास

मैंने भी एहसास किया ,मैं देख दृश्य वो रोया हूँ। तम्बू में रहते परिवारों के बच्चों में कितना खोया हूँ।। वो नन्हे मासूम से चेहरे जो कितने भोले भाले है, बचपन में सर ले लिया बोझ, वो कोमल पग वाले है। उनके चेहरे की मासूमी में प्यारी सी किलकारी है, उनकी कुटिया उनके जीवन में इस जी जगत से प्यारी है। उनका बचपन कितना सा अंजाना है, देख कोठियों के बच्चों को मन ही मन सकुचना है,।। उनको मिलते पैसे बेटे कुछ मेले म... »

गीत लिखूं

देख कर आज मौसम की ये मस्तिया, दिल में हलचल सी कुछ अब होने लगी। देख कर नूर सा तेरा मुखडा प्रिये, मन में बेताबिया सी है उठने लगी। इस पवन ने शरारत कुछ ऐसी की है, तेरी जुल्फो से उलझने की कोसिस की है। बूंद पानी ने भी कुछ गलतिया की है, तेरी होठों पे आने की कोसिस की है। तेरी आँखो में काज़ल की है घटा, तेरे मुखड़े पे है छायी सावन की घटा। तेरे श्रृंगार के गीत को मैं लिखूं, तुझे देखूँ तो देखता ही रहूँ। तेरी ... »

गीत कोई

गीत कोई गा रही हूँ छेड़ कर तार दिल के प्रीत के धागे है सुन्दर अश्क के मोती पिरोकर मन-गगन महका रही हूँ । »

वीर गीत

एक हाथ में ध्वजा तिरंगा, काँधे पर बन्दूक हैं। भारत माँ का वीर सिपाही, लक्ष्य बड़ा अचूक है।। कदम चाल में चलते हमसब, भारत माँ की रक्षा में। रहे सुरक्षित शरहद अपनी, वैरी न आए कक्षा में।। देश धर्म पे बलि-बलि जाऊँ, शपथ बड़ा अटूट है। भारत माँ का वीर सिपाही……………………………….।। चाह नहीं अपनी है वीरों, दुनिया पर अधिकार करें। लेकिन अंगुल एक ... »

अधूरे हैं

तुम्हारे होंठों की सरगम बिन मेरे गीत अधूरे हैं। मेरी नजरों से रहते दूर तुम मेरे प्रीत अधूरे हैं। तुम्हें खोकर सारी दुनिया जीतूँ मेरे जीत अधूरे हैं। ‘विनयचंद ‘ वफा के बिन मनमीत अधूरे हैं।। »

आखिर माँ तो माँ होती है

हम प्रेम लुटाये कोई जान न पाए पेट भर के हमारा भूखा सोती है आखिर माँ तो माँ होती है-2 कोई आंच न आये,हम युही मुस्कुराये दुख में दिखे हमे तो छुप के रोती है आखिर माँ तो माँ होती है-2 हमको चलना सिखाये पाठ आचरण का पढ़ाये ममता के आंचल में हमको संजोती है आखिर माँ तो माँ होती है-2 सपने पूरे हो जाये यही मांगे वो दुवाएं हमारी खशियो के खतिर,अपना सब खोती है आखिर माँ तो माँ होती है-2 मुश्किल कितनी भी आये छोड़ के ... »

भारत देश

बाल गीत:-‘भारत देश हमारा है’ यह भारत देश हमारा है, हमे प्राणो से भी प्यारा है। हम तो नन्हे मुन्ने बच्चे है, हम मन के बड़े सच्चे है। हम मिल जुलकर रहते है, हम देश की गाथा कहते है। यह भारत देश हमारा है, हमे प्राणो से भी प्यारा है।। »

गणपति वंदना

आओ मनाएँ गणपति गणेश को। गौड़ी नन्दन पुत्र महेश को।। लम्बोदर गजवदन विनायक। प्रथम पूज्य सब देव सहायक।। करुणाकर करुणेश को, आओ मनाएँ……।। सिद्धि बुद्धि को देने वाले। संकट सबके हरने वाले।। वरदायक मंगलेश को, आओ मनाएँ…….।। ऋद्धि सिद्धि के प्रीतम प्यारे। खड़ा “विनयचंद “तेरे द्वारे।। मेरे काटो कठिन कलेश को, आओ मनाएँ…..।। »

Page 1 of 19123»