तेरा सजदा – 112

तेरा सजदा – 112

         

कोई मुश्क़िल हर पार कर तुझको स्दीवी पा जाता है

कोई मुश्किलों का राग आलाप तुझको खो जाता है    

                                                       

                                           …… यूई

Related Articles

केवट

समुंदर पार कर दो ए केवट प्रिय मेरे पार कर दो गंगा प्रिय लक्ष्मण भ्रात है साथ और है जनक दुलारी साथ जाना है चित्रकूट…

Responses

New Report

Close