तेरा सजदा – 53

तेरा सजदा – 53

         

कोई दूसरों को बछाने हेतू काँटों का ताज पहनता

कोई दूसरों को गिराने हेतू काँटों की राह् बनाता

                     

                                   ….. यूई

Related Articles

Responses

New Report

Close