दर्द ए अश्क

तेरा  ज़िक्र  तो  हर  जगह  होता  है
दर्द ए अश्क आंखों में जो भरा होता है


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Panna.....Ek Khayal...Pathraya Sa!

7 Comments

  1. Ankit Bhadouria - March 25, 2016, 12:59 am

    beshaq….bht khoob !!

  2. SACHIN SANSANWAL - April 3, 2016, 4:47 am

    ज्यादा फर्क नहीं है हमारी हालत में ,
    फर्क सिर्फ इतना है …
    तेरी आँखों में कोई और बसा है ,
    मेरे जिक्रो में कोई और बसा है ||

  3. UE Vijay Sharma - April 5, 2016, 3:06 pm

    gehne hain yeh anmol..panna jee sambhaal rakhiyegaa

Leave a Reply