निकल जाते है उन रास्तों पर

निकल जाते है उन रास्तों पर
जिनकी कोई मंजिल नहीं
अंधेरे होते है जिन राहों में
मगर कोई अंजुमन नहीं
होते है कांटे, कंकड़
फूलों का बागान नहीं
बस इक साथी की तलाश होती है
जो हमारी तरह इन राहों पे निकला हो


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

........................................

7 Comments

  1. Panna - January 8, 2016, 2:15 pm

    nice 🙂

  2. Anjali Gupta - January 8, 2016, 5:21 pm

    nice one!!

  3. Ankit Bhadouria - January 8, 2016, 7:32 pm

    nice 1

Leave a Reply