बात करूँगा दिल से दिल को छू कर

बात करूँगा दिल से, दिल को,
छू कर जाने वालों की,
आजादी की जंग में शामिल दिलवाले दीवानों की,
आजाद,भगत सिंह, राज गुरु और झांसी वाली रानी की,
बात करूँगा दिल से, दिल को,
छू कर जाने वालों की,
स्वतंत्र राज, गणतन्त्र मन्त्र की माला जपने वालों की,
लोकतन्त्र के हित में जमकर मन्थन करने वालों की,
बात करूँगा दिल से, दिल को,
छू कर जाने वालों की,
2 वर्ष 11 माह दिन 18 में
संविधान की रचना करने वाले की,
संसद् पर अपनी शान तिरंगा, प्रथम फहराने वालों की,
मूल बीज मौलिक अधिकारों का बोध कराने वालों की,
बात करूँगा दिल से, दिल को,
छू कर जाने वालों की,
ये बेला है शहीदी के रंग से माँ का चोला रँगने वालों की,
गणतंत्र दिवस की मशाल समय पर हाथों में उठाने वालों की,
बात करूँगा दिल से, दिल को,
छू कर जाने वालो की।।

~ राही (अंजाना)

Related Articles

जंगे आज़ादी (आजादी की ७०वी वर्षगाँठ के शुभ अवसर पर राष्ट्र को समर्पित)

वर्ष सैकड़ों बीत गये, आज़ादी हमको मिली नहीं लाखों शहीद कुर्बान हुए, आज़ादी हमको मिली नहीं भारत जननी स्वर्ण भूमि पर, बर्बर अत्याचार हुये माता…

दुर्योधन कब मिट पाया:भाग-34

जो तुम चिर प्रतीक्षित  सहचर  मैं ये ज्ञात कराता हूँ, हर्ष  तुम्हे  होगा  निश्चय  ही प्रियकर  बात बताता हूँ। तुमसे  पहले तेरे शत्रु का शीश विच्छेदन कर धड़ से, कटे मुंड अर्पित करता…

लाल चौक बुला रहा हमें, तिरंगा फहराने को

सिहासन के बीमारों ,कविता की ललकार सुनो। छप्पन ऊंची सीना का उतर गया बुखार सुनो। कश्मीर में पीडीपी के संग गठजोड किये बैठे हैं। राष्ट्रवाद…

Responses

  1. सभी मित्र अंकित अवनीश भाई गोरव सभी छात्र छात्राओं को मेरा आभार।।
    सम्पन्न घर में सभी फेसबुक चलाते है?? सबके कमेंट करा डाले

New Report

Close