बात

बड़ी बड़ी बाते से हौसला मिलता,
चींटी के कहर से हाथी मरता ।
ईर्ष्या बड़े बड़े को नाश करता,
छोटे बनने से बहुत कुछ मिलता।।

✍महेश गुप्ता जौनपुरी


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

6 Comments

  1. Anita Sharma - July 12, 2020, 9:32 pm

    👍

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - July 12, 2020, 10:29 pm

    Nice

  3. Abhishek kumar - July 12, 2020, 11:18 pm

    बड़ी-बड़ी, बड़े-बड़े का नाश करती।
    भावपक्ष प्रधान होने के कारण उत्तम

  4. Satish Pandey - July 13, 2020, 7:30 am

    बहुत खूब

  5. Abhishek kumar - July 31, 2020, 1:22 am

    पुनरुक्ति अलंकार

  6. प्रतिमा चौधरी - September 26, 2020, 4:05 pm

    बहुत ही उम्दा पंक्तियां

Leave a Reply