भोजपुरी सावन शिव भजन 19 – दरबार रे ननदी |

भोजपुरी सावन शिव भजन 19 – दरबार रे ननदी |
जोहत रहली हम सावन के फुहार रे ननदी |
चला चली देवघर के दरबार रे ननदी |
अबले ना अइले सइया लोक डाउन लगी गईल |
अबकी सवनवा देवघर मेला बंद हो गईल |
कइसे होइहे सभकर बेड़ापार ये ननदी |
चला चली देवघर के दरबार रे ननदी |
भोला हउवे दानी उनकर आसरा बा लागल |
बाबा दरसनवा खातिर मनवा भईले पागल |
हहरेला हिया हमरो करी भोला के गुहार रे ननदी |
चला चली देवघर के दरबार रे ननदी |
सास ससुर संगे शिव के हम मनाइब |
घरवा मे पूजा करब बेलपत्तवा हम चढ़ाइब |
बोल बम बोली बोली करब हम मनुहार रे ननदी |
चला चली देवघर के दरबार रे ननदी |
महिमा होई बोला बाबा कोरोना भागी जाई |
हमरे भारत देशवा सबकर भाग जागी जाई |
बहरे से सइया करे भोला जय जय कार रे ननदी |
चला चली देवघर के दरबार रे ननदी |

श्याम कुँवर भारती (राजभर)
कवि /लेखक /गीतकार /समाजसेवी
बोकारो झारखंड मोब -9955509286


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

भोजपुरी चइता गीत- हरी हरी बलिया

तभी सार्थक है लिखना

घिस-घिस रेत बनते हो

अनुभव सिखायेगा

5 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - July 18, 2020, 10:27 pm

    बहुत खूब

  2. Priya Choudhary - July 20, 2020, 8:58 am

    Nice

  3. Abhishek kumar - July 31, 2020, 12:38 am

    बेहद उम्दा गीत

Leave a Reply