मैंने तुम्हें जिताया

मैंने तुम्हें जिताया ,
उम्मीद का बटन दबाकर,
सोचा था कि बढ़ाओगे रोजगार को मेरे,
मगर तुमने बढ़ाया,
सिर्फ अपना पेट।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Praduman Amit - September 19, 2020, 1:43 pm

    उम्मीद के बटन (शब्द बहुत ही सुन्दर है) रचना लाजवाब है।

  2. Suman Kumari - September 19, 2020, 2:37 pm

    सुन्दर

  3. मोहन सिंह मानुष - September 19, 2020, 3:21 pm

    वर्तमान में सभी राजनैतिक पार्टियों पर बहुत अच्छा व्यंग
    बहुत सुंदर

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 19, 2020, 8:28 pm

    सुंदर

  5. Pushpendra Kumar - September 30, 2020, 10:31 pm

    बिल्कुल सही बात

  6. प्रतिमा चौधरी - September 30, 2020, 10:39 pm

    शुक्रिया

Leave a Reply