ये तन्हाइयां

ख़त्म हो जाएंगी एक दिन ये तन्हाइयां,
मिल जाएगी मंज़िल, दूर होंगी रुसवाईयां..


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

16 Comments

  1. Isha Pandey - September 8, 2020, 11:36 am

    Very nice lines

  2. Rishi Kumar - September 8, 2020, 11:57 am

    😊😊😊😊😊✍👌
    आपने हर दर्द की दवा दे दी
    बहुत खूबसूरत रचना

  3. MS Lohaghat - September 8, 2020, 12:42 pm

    बहुत खूब

  4. Pragya Shukla - September 8, 2020, 12:44 pm

    हौसला बढ़ाने वाली पंक्तियां

  5. प्रतिमा चौधरी - September 8, 2020, 1:03 pm

    Nice

  6. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 8, 2020, 3:39 pm

    सुंदर

    • Geeta kumari - September 8, 2020, 3:44 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका भाई जी 🙏

  7. Piyush Joshi - September 23, 2020, 4:26 pm

    बहुत खूब वाह

  8. Indu Pandey - September 23, 2020, 6:36 pm

    Atisundar

    • Geeta kumari - September 23, 2020, 8:04 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद इन्दु जी 🙏

Leave a Reply