शख्सियत मेरी

आरज़ू नहीं रखता कि पूरी कायनात में मशहूर हो शक्सियत मेरी।
जनाब! आप जितना जानते हो सच में उतनी ही है पहचान मेरी।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. PRAGYA SHUKLA - July 14, 2020, 1:43 pm

    Nice line

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - July 14, 2020, 11:00 pm

    Nice

    • Abhishek kumar - July 31, 2020, 1:04 am

      शास्त्री जी आपका और मेरा साथ कितना पुराना है और मैंने कभी भी क्या से भरा हुआ नहीं पाया आप सभी के साथ समान व्यवहार करते हैं आपके चेहरे पर जो कांति है मुझे बहुत अच्छी लगती है

  3. प्रतिमा चौधरी - September 26, 2020, 1:42 pm

    बहुत ही सुंदर लेखनी

Leave a Reply