शायरी

रोज मर्रा की जिंदगी में,
बहुत कुछ सीखा हैं हमने,
दुनिया में ना जाने कितने हैं रंक,
जीवन पर लगा यह कैसा अभिशप्त का कलंक,

महेश गुप्ता जौनपुरी


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - March 8, 2020, 9:53 pm

    Nice

  2. Dhruv kumar - March 8, 2020, 10:28 pm

    Nyc

  3. Kanchan Dwivedi - March 8, 2020, 11:07 pm

    Very nice

  4. Antariksha Saha - March 9, 2020, 12:08 pm

    Khoob

  5. Pragya Shukla - March 10, 2020, 12:42 am

    गुड

Leave a Reply