हवा का झोंका

हवा का झोंका प्यार का एहसास कराता,
ओंस की बूंद तन मन में आग लगाता।
हरियाली खेतों की तराशे तुझे सनम,
बसंती झोंका खुशीयों का गीत सुनाता।।

महेश गुप्ता जौनपुरी


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - June 17, 2020, 10:56 pm

    Nice

  2. Pragya Shukla - June 18, 2020, 10:18 am

    👌

  3. Abhishek kumar - July 10, 2020, 11:53 pm

    त्रुटियाँ हैं पर भाव अच्छे हैं

Leave a Reply