370 to jhaki hai

370 तो झांकी है,
पीओके अभी बाकी है,
चला था कश्मीर लेने वो,
अब तो उसे खुद
की साख बचानी है,
दर-दर की खाकर ठोकरे,
लौट के आया बुद्धू घर पर,
अब तो उसे पर गए हैं
खाने के भी लाले,
नाचता है आतंकी के बल पर,
भेजता रोज आतंकी वो,
कहता किस मुंह से वो,
करनी है बातें भारत से हमें,
बात बात पर एटम बम की
धमकी है देता वो,
अब न चलेगी गीदड़
भभकी तेरी ओ पाकिस्तान,
पास मेरे है आज का हिंदुस्तान |

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

12 Comments

  1. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 13, 2019, 2:02 pm

    वाह बहुत सुंदर रचना

  2. राही अंजाना - September 13, 2019, 2:51 pm

    वाह

  3. देवेश साखरे 'देव' - September 13, 2019, 3:20 pm

    सुंदर रचना

  4. NIMISHA SINGHAL - September 13, 2019, 3:23 pm

    Very nice

  5. ashmita - September 14, 2019, 12:08 am

    Nice

Leave a Reply