एक ही मुस्कान पर

आज भी हम तुम्हारी
एक ही मुस्कान पर,
सैकड़ों शायरी बना सकते हैं
तुम मुस्कान तो दो।
आज भी शब्दों के फूलों को
बिछाकर राह में
स्वागत करेंगे, तुम, हमें
आने का कुछ पैगाम तो दो।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

14 Comments

  1. Pragya Shukla - September 16, 2020, 7:45 pm

    वाह! बहुत खूब

  2. Chandra Pandey - September 16, 2020, 8:00 pm

    गजब का लिखते हो सर

  3. Pratima chaudhary - September 16, 2020, 8:20 pm

    सुन्दर प्रस्तुति

  4. vivek singhal - September 16, 2020, 9:54 pm

    Nice

  5. Geeta kumari - September 16, 2020, 9:56 pm

    Very beautiful way of expressing the feeling of heart
    …… Greetings to your pen…..

    • Satish Pandey - September 16, 2020, 11:34 pm

      आपकी इस सुंदर टिप्पणी और समीक्षा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद है। आपके शब्दों में असीम क्षमता है। सदैव बनी रहे, अभिवादन

  6. MS Lohaghat - September 16, 2020, 10:13 pm

    बहुत बढ़िया

  7. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 16, 2020, 10:25 pm

    अतिसुंदर

Leave a Reply