,,,,,, क्या कम है ?

,,,,,,क्या कम है (कविता) Independence day

कौन कहता है हमारे वतन में, प्रेम की गंगा नहीं बहती है।
हिमालय से गंगा, यमुना, और सरस्वती के मिलन ए क्या कम है?
यही वो देश है जो कभी, सैकड़ों सपूतो ने लिया था जन्म।
देश पर हो गये थे सभी कुर्बान,उनकी कुर्बानी की दास्तां अन्य दास्तां से कम है?
हमारा आन तिरंगा बान तिरंगा शान तिरंगा ,
तीन रंगो में लिपटी हमारी धरती माता, यही रंग भारत को
भाता ,कितना मनोहर कितना प्यारा, यह तीन रंगा किसी अन्य रंग से कम है ?
आजादी बनी हमारी एकता की निशानी,हिंदु मुस्लिम सिख ईसाई, सभी को था आजादी प्यारा, बड़े ही लगन से देश में नया प्रभात उगाया, उन सभी के लगन अन्य लगन से कम है।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Pragya Shukla - April 10, 2020, 3:34 pm

    Good

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - April 10, 2020, 3:55 pm

    Nice

  3. Dhruv kumar - April 12, 2020, 10:16 pm

    Nyc

  4. NIMISHA SINGHAL - April 14, 2020, 2:52 pm

    Jai hind ke saina

  5. Abhishek kumar - May 10, 2020, 10:45 pm

    🇮🇳🇮🇳🇮🇳👏👏

Leave a Reply