क्योंकि दरबाजे पे बैठा कोरोना कहर

अब तो घर में भी रहना कारावास है
क्योंकि दरबाजे पे बैठा कोरोना कहर।
देख विरयानी में भी है खिचड़ी का स्वाद
क्योंकि दरबाजे पे बैठा कोरोना कहर।।
क्यों अनजाना -सा लगता है अपना शहर
क्योंकि दरबाजे पे बैठा कोरोना कहर।
बड़ी मुश्किल -सी लगती ज़िन्दगी वसर
क्योंकि दरबाजे पे बैठा कोरोना कहर।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. Dhruv kumar - May 7, 2020, 11:21 am

    Nyc

  2. Pragya Shukla - May 7, 2020, 12:07 pm

    👌👌

  3. Abhishek kumar - May 8, 2020, 1:33 pm

    Good

  4. Satish Pandey - July 12, 2020, 2:30 pm

    अच्छा प्रयास

Leave a Reply